विधायक महेंद्र यादव ने सीबा जाहिद व चेष्टा को दिया सर्विंग फोर ह्यूमेनिटी अवार्ड

नई दिल्ली – उत्तम नगर में मोहन गार्डन स्थित मुनि इंटरनेशनल स्कूल के छात्र रहे मोहम्मद अली सैफी ने हाल ही में दुनिया को अलविदा तो कहा, लेकिन लोगों के दिलों में वो आज भी जिंदा है। क्यों कि अली ने अपनी छोटी से जिंदगी में मानव सेवा का वो कार्य किया जिसने समाज में एक मिसाल कायम की।

मुनि इंटरनेशनल स्कूल संस्थापक डॉ. अशोक कुमार ठाकुर ने अपने छात्र के कार्यो को आगे बढ़ाने और युवाओं को उनके जीवन से प्रेरणा देने के लिए मोहम्मद अली सैफी की याद में छात्रों को सर्विंग फोर ह्यूमेनिटी अवार्ड देने की घोषणा की। यह अवार्ड प्रत्येक वर्ष 3 मार्च को पांच उन छात्रों को दिया जाएगा, जो नि:स्वार्थ भाव से मानव सेवा का कार्य करेंगे।

इस संबंध में स्कूल में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जहां अली के माति-पिता व उनके चहेते लोगों की उपस्थिति में विधायक महेंद्र यादव, निगम पार्षद अशोक सैनी ने मुनि स्कूल संस्थापक डॉ. अशोक कुमार ठाकुर द्वारा अली की याद में घोषित अवार्ड का लोकार्पण किया। इसके बाद अली से प्रेरित होकर समाज सेवा में लगी अलीगढ़ की छात्रा सीबा जाहिद व दिल्ली की चेष्टा को सर्विंग फोर ह्यूमेनिटी अवार्ड भी प्रदान किया गया।

इस मौके पर विधायक महेंद्र यादव ने अपने विचार रखते हुए कहाकि अली के मानव सेवा कार्यों को आगे बढ़ाना ही उनको सच्ची श्रद्धाजंली होगी। श्री यादव ने कहाकि छात्रों को किताबी शिक्षा तो सभी स्कूलों में मिलती है, लेकिन अशोक ठाकुर द्वारा संचालित मुनि स्कूल अपने छात्रों में शिक्षा के साथ समाज सेवा और नैतिक मूल्यों का जो बीजारोपण करता है, वह किसी अन्य स्कूल में नहीं दिखता। यही कारण है कि आज मुनि स्कूल का हर बच्चा अपनी खास पहचान रखता है।

मुनि स्कूल संस्थापक डॉ. अशोक कुमार ठाकुर ने बताया कि वो अपने छात्रों को बेहतर शिक्षा देने के साथ-साथ समाजिक दायित्व निभाने और मानव सेवा के लिए सदैव तैयार रहने के लिए प्रेरित करते हैं।

कार्यक्रम में आए अली के माति-पिता व बड़े भाई ने मुनि स्कूल का अभार जताते हुए कहाकि यह हमारे लिए गर्व की बात है कि डॉ. अशोक कुमार ठाकुर ने अली की याद में छात्रओं के लिए अवार्ड की घोषणा की, इसके माध्यम से अली सबके दिलों में सदैव जिंदा रहेंगे। उन्होंने बताया कि अशोक कुमार ठाकुर से प्रेरित होकर ही अली ने समाज सेवा का कार्य आरंभ किया था। क्योंकि स्कूल में पढ़ते हुए उसने यह सब कुछ सीखा। कार्यक्रम में शामिल हुए सभी लोगों ने संकल्प लिया कि हम अली द्वारा शुरू की गई मानव सेवा की मुहिम को आगे बढ़ाने में तन-मन-धन से प्रयास करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *