प्रतिभा विकास स्कूल के अध्यापकों को पसंद आया मुनिइंटरनेशनलस्कूल का शिक्षा मॉडल

नई दिल्ली- उत्तम नगर के मुनिइंटरनेशनलस्कूल में हरि नगरराजकिय प्रतिभा विकास स्कूलके अध्यापकों ने एक दिवसी प्रशिक्षण लिया। इस दौरान अध्यापकों ने स्कूलप्रबंधकअशोक ठाकुर से स्कूल के उद्देशयों व गतिविधियों को समझा। इसके बाद सभी अध्यापकों ने कक्षाओं में जा कर छात्रों वअध्यापकों की गतिविधियों को समझा।

muni11 muni22

मुनिइंटरनेशनलस्कूल में प्रशिक्षण लेने पहुंचे राजकिय प्रतिभा विकास स्कूल के अध्यापक

प्रतिभा विकास स्कूल के प्रार्चाय की अनुमति से प्रशिण पर आए अध्यापक संजीव कुमार गौङ, कृष्ण प्रसाद उपाध्याय व प्रीति तंवर ने मुनिइंटरनेशनलस्कूल के शिक्षा मॉडल को समझने के लिए विजिट किया, ताकि वो इस प्रणाली को समझ कर अपने स्कूल के छात्रों की जीवन शैली बदलाव ला सकें।अध्यापिका प्रीति तंवर ने कक्षाओं में जा कर पाया कि छात्र किस प्रकार आपस में पढते हैं, हर बच्चा बेखौफ अंग्रेजी बोलता हैं, टैब का प्रयोग करता है, जेब्रा-क्रॉसिंग का रूल फॉलो करता, विदेशी भाषाओं में एक दूसरे के साथ आसानी से संवाद करते हैं। शिक्षा के साथ-साथ जीवन के उद्देशयों, राष्ट्रसेवा, समाज सेवा जैसी जिम्मेदारियों के प्रति भी गंभीर सोच रखते हैं।

muni44 muni33

स्कूलप्रबंधकअशोक ठाकुर सेस्कूल के उद्देशयों व गतिविधियों को समझते अध्यापक।

संजीव कुमार गौङ ने बताया कि यहां की गतिविधियां अन्य स्कूलों से काफी भिन्न हैं जैसे छात्रों में सेल्फ-ग्रुप लर्निंग की आदत, बच्चों का अनुशासन में रहना। अध्यापक कृष्ण प्रसाद उपाध्याय का कहना है कि जिन चीजों को हम स्कूलों में करना असंभव समझते हैं,वो यहां पर संभव देखी गई, छात्रों में पाठ्यक्रम विषय के अलावा विदेशी भाषा सीखना, एक्यूप्रेसर जांचना तथा कई प्रकार की समाजिक जानकारियां होना आदि इस स्कूल के छात्रों को अन्य स्कूल के छात्रों से अलग बनाता है।

राजकिय प्रतिभा विकास स्कूल के अध्यापकों को ने माना कि छात्र को काबिल बनाने के लिए आज मुनिइंटरनेशनलस्कूल के शिक्षा मॉडल पर काम करने की आवश्यकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *